Latest Press Release

भारत सरकार के प्रतिष्ठित राष्ट्रीय ई-गवर्नेस पुरस्कार से विश्वविद्यालय का आई.जी.एम.आई.एस. सम्मानित

DSCN5176


रायपुर। दिनांक 10.01.2017। इंदिरा गॉधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर को शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थाओं के सर्वश्रेष्ठ ई-गवर्नेस मॉडल हेतु भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय पुरस्कार आज दिनांक 10 जनवरी 2017 को प्रदान किया गया। भारत सरकार के प्रशासनिक सुधार एवं लोक शिकायत विभाग द्वारा डिजिटल इंडिया मुहिम के तहत ई-गवर्नेस के 20 मॉडल विभिन्न क्षेत्रों में चयनित किये गये। इसमें शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थानों में देश से केवल इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर के अभिनव एवं सघन प्रयास को चिन्हित किया गया तथा विश्वविद्यालय के आई.जी.एम.आई.एस. को ई-गवर्नेस के राष्ट्रीय स्तर पर सिल्वर अवार्ड से पुरस्कृत किया गया। यह पुरस्कार डिजिटल इंडिया मुहिम के तहत विभिन्न संस्थाओं के उनकी अद्वितीय योजनाओं का लाभ नागरिकों को पहॅुचाने हेतु प्रदान किया जाता है। यह अवार्ड विशाखापटनम (आन्ध्र प्रदेश) में आयोजित 20 वें नेशनल कान्फ्रेंस ऑन ई-गर्वनेंस सेमीनार में माननीय केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री पी.पी. चौधरी, इलेक्ट्रानिक्स एवं इनफारमेसन प्रौद्योगिकी, भारत सरकार द्वारा दिनांक 10 जनवरी 2017 को प्रदान किया गया।

इस आई.जी.एम.आई.एस. का विकास एन.आई.सी. के सहयोग से विश्वविद्यालय में किया गया है एवं कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एस.के. पाटील ई-गर्वनेस के नोडल आफीसर डॉ. आर.आर. सक्सेना, एवं एन.आई.सी. के श्री अशोक बंजारे, तकनीकी निदेशक एवं श्री अभिजीत कौशिक, साइंटिस्ट ’’बी’’ द्वारा यह पुरस्कार प्राप्त किया गया।

इंदिरा गॉधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर के माननीय कुलपति डॉ. एस.के. पाटील के कुशल नेतृत्व एवं दुरगामी दृष्टि के फलस्वरूप कृषि शिक्षा, अनुसंधान एवं विस्तार के कार्यो का डिजिटलीकरण कर छात्रों हेतु उपयोगी सूचनाओं को पहॅुचाने, समय पर प्रवेश, मूल्यांकन, परिणाम एवं उपाधियॉ प्रदान करने एक डिजिटल प्लेटफार्म तैयार कर विभिन्न ’’एप्स’’ विकसित किये गये जिनके माध्यम से छात्रों के जीवन-चक्र का नियमन संभव हुआ। इसी प्रकार प्रशासन से संबंधित समस्त कार्यो यथा अनुसंधान, विस्तार, वित्त एवं सामान्य प्रशासन को भी डिजिटली व्यवस्थित किया गया। कृषकों को अनुसंधान परिणामों की त्वरित एवं अधिक सक्षम रूप से पहुॅचाने हेतु भी विभिन्न प्रकार के ’’एप’’ विकसित किये गये। विश्वविद्यालय द्वारा इस दिसा में सतत् प्रगति जारी है।

इस संपूर्ण व्यवस्था को आई.जी.एम.आई.एस. का नाम दिया गया है। इस पुरूस्कार हेतु भारत सरकार के टीम द्वारा तीन चरणों में इवेल्युवेशन किया गया। जिसमें स्थल निरीक्षण भी शामिल है। तत्पश्चात भारत सरकार ने सर्वश्रेष्ठ शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान का यह अवार्ड विश्वविद्यालय को प्रदान किया है।


(डाॅ. के.के. साहू)
सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी